Personalized
Horoscope

राहु गोचर 2019: राहु का मिथुन राशि में प्रवेश

राहु गोचर 2019 वैदिक ज्योतिष के अनुसार राहु एक छाया ग्रह है। इसे क्रूर ग्रह भी कहा जाता है। राहु काल में इस ग्रह का सर्वाधिक प्रभाव रहता है। राहु को किसी भी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है। यदि कुंडली में राहु मजबूत स्थिति में हो तो जीवन में मान-सम्मान बढ़ता है और यदि कुंडली में राहु की स्थिति प्रतिकूल हो तो अनेक प्रकार के कष्टों का सामना भी करना पड़ता है। इसे कार्य सिद्धि में बाधक तथा दुर्घटनाओं का जनक माना जाता है। इसके अतिरिक्त राहु मानसिक तनाव, धन हानि और झूठ बोलने आदि का कारक है।

राहु गोचर साल 2019 में आपके जीवन में होने वाले कई परिवर्तनों का साक्षी बनेगा। राहु ग्रह 7 मार्च 2019 को तकरीबन 2:48 बजे राहु मिथुन राशि में गोचर करेगा और 23 सितंबर 2020, 5:28 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। राहु के गोचर का प्रभाव सभी 12 राशियों पर कुछ इस प्रकार पड़ेगा।

Click here to read in English

यह राशिफल चंद्र राशि पर आधारित है। जानें चंद्र राशि कैल्कुलेटर से अपनी चंद्र राशि

मेष

राहु आपकी राशि से तीसरे भाव में गोचर करेगा। राहु का गोचर आपके लिए अनुकूल परिस्थितियों का निर्माण करेगा। जीवन का पहिया सही दिशा की ओर गतिमान होगा। प्रोफेशनल लेवल पर अच्छे परिणाम मिलेंगे। करियर में आपको बड़ी उपलब्धि प्राप्त होने की संभावना रहेगी। सैलरी में वृद्धि होगी। जॉब की तलाश करने वाले जातकों को मंजिल मिलेगी। राहु गोचर 2019 आपकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करेगा। बिजनेस में सफलता मिलेगी। इसमें आपको उच्च लाभ के योग हैं। छोटी दूरी की यात्राओं में अनुकूल परिणाम मिलेंगे। वहीं लंबी दूरी यात्रा को टालने का प्रयास करें। प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ़ में तालमेल बनाए रखें। ध्यान रखिए, इस अवधि में आपके व्यक्तित्व का विकास होगा जिसका आपको पूरा लाभ उठाने का प्रयास करना होगा। अपनी स्किल्ड को डेवलेप करें और लोगों से दोस्तों जैसा व्यवहार करें।

उपाय: बुधवार की शाम को तिल दान करें।

जानें साल 2019 का अपना भविष्यफल

बृषभ

राहु गोचर 2019 वृषभ राशि के जातकों के लिए थोड़ा कष्टकारी रह सकता है। राहु आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। जॉब और बिजनेस में रिस्क फैक्टर रह सकता है। प्रोफेशनल क्षेत्र में उन्नति रुक सकती है। आर्थिक क्षेत्र में अस्थिरता रहने का अनुमान है। गोचर के दौरान अपनी वाणी पर संयम रखें। किसी को ऐसे शब्द न कहें जिससे उन्हें मानसिक चोट पहुँचे। परिस्थितियों को समझकर अपनी रणनीतियों को क्रियान्वित करें। पारिवारिक जीवन में क्लेश संभव है। परिजनों के बीच किसी ग़लतफ़हमी के कारण तनाव देखने को मिल सकता है। संवाद के ज़रिए विवाद को सुलझाने का प्रयास करें और आप इसके लिए पहल करें। इस अवधि में लोन लेने से बचें और स्वस्थ्य भोजन ही करें।

उपाय: रविवार के दिन भैरव देव के मंदिर में काले ध्वज की पताका लहराएँ।

मिथुन

राहु आपकी राशि से प्रथम भाव (लग्न भाव) में संचरण करेगा। इस अवधि में आपको प्रतिकूल परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। संभव है कि इस समय आपका आत्मविश्वास या मनोबल थोड़ा कमज़ोर नज़र आए। इसलिए कोई भी फैसला लेने से पहले उसके बारे में विचार विमर्श अवश्य करें। आप अनुभवी लोगों से सलाह भी ले सकते हैं। समय और परिस्थितियों भांपकर कदम बढ़ाएँ। गोचर के दौरान आपकी सेहत नाजुक रह सकती है इसलिए अपने स्वास्थ्य का विशेष ख़्याल रखें। यदि आप छात्र हैं आपको अध्ययन करने में परेशानी आ सकती है। परंतु आपको अपना फोकस अपनी पढ़ाई पर ही रखना है। विवाद एवं झगड़ों आदि से दूर रहें और बहस करने से बचें। इस दौरान आप घर और कार्यक्षेत्र पर दूसरों पर हावी होने का प्रयास कर सकते हैं। इससे बचने का प्रयास करें।

उपाय: अपने साथ हमेशा काले पत्थर का छोटा टुकड़ा लेकर चलें।

कर्क

राहु का गोचर आपकी राशि से बारहवें भाव से होगा। कुंडली में 12वाँ भाव व्यय को दर्शाता है। इसलिए गोचर के दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। ख़र्च पर नियंत्रण रखें। विदेश यात्रा के योग हैं। पारिवारिक जीवन में तनाव रह सकता है। घर में एकता का अभाव देखने को मिल सकता है। इसके अलावा अवैध कार्यों में संलिप्त न रहें और अपनी छवि को साफ़-सुथरी बनाए रखें। उधर, कार्यक्षेत्र में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में घबराने बल्कि साहस और आत्मविश्वास के साथ इन चुनौतियों का सामना करें।

उपाय: महाकाली एवं भैरवदेव की पूजा करें।

सिंह

राहु गोचर 2019 सिंह राशि के जातकों के लिए मिलाजुला रहेगा। कार्य अथवा व्यवसाय में तरक्की होगी। इसके लिए आपको अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। इस अवधि में आपको आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। अप्रत्याशित आर्थिक मुनाफा होने की संभावना है। साथ ही बच्चों को लेकर आप थोड़े चिंतित दिखाई दे सकते हैं। यदि आप छात्र हैं तो पढ़ाई के दौरान आपका ध्यान भंग हो सकता है। इससे आपकी पढ़ाई प्रभावित हो सकती है। जीवनसाथी या प्रेमसाथी के साथ क़ीमती समय व्यतीत करने का अवसर प्राप्त होगा। लाइफ़ पार्टनर के साथ रिश्ते मधुर व प्रगाढ़ होंगे। वहीं कार्यक्षेत्र में आपको मान-सम्मान प्राप्त होगा। जूनियर आपका अनुसरण करेंगे। वहीं सीनियर्स के साथ भी अच्छे संबंध स्थापित होंगे।

उपाय: कुत्तों को रोटी खिलाएँ।

अंक ज्योतिष - जानें साल 2019 के लिए क्या कहता है आपका मूलांक

कन्या

राहु आपकी राशि से दसवें भाव में संचरण करेगा। कुंडली में यह भाव कर्म का भाव होता है। यह गोचर आपके लिए कष्टकारी रह सकता है। भगवान राम की आराधना करें। इससे आपके कष्ट कम होंगे। वहीं आर्थिक क्षेत्र के लिए गोचर अनुकूल रहेगा। इस दौरान आपको धन लाभ के योग हैं। इस समय आप भविष्य के लिए पैसों की बचत कर पाएंगे। ख़र्चों पर आपका नियंत्रण रहेगा। एक बात का ध्यान रखें, सफलता का बस एक ही मंत्र है और वह है परिश्रम। लिहाज़ा मन से इस बात को निकाल दें कि कोई शॉर्टकट आपको कामयाब बनाएगा। माता जी की सेहत बिगड़ सकती है। अतः उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखें। गोचर का नकारात्मक प्रभाव आपके निजी जीवन पर पड़ सकता है। इसलिए थोड़ा इस ओर भी ध्यान दें।

उपाय: श्री राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करें।

तुला

राहु आपकी राशि से नौवें भाव में प्रवेश करेगा। ध्यान रहे कि कुंडली में 9वाँ भाव धर्म, भाग्य और सामाजिक कल्याण का होता है। राहु की इस भाव में उपस्थिति आपके लिए अनुकूल नहीं है। यदि आवश्यक न हो तो इस दौरान शुभ कार्यों को टाल दें। आर्थिक क्षेत्र में आपको हानि हो सकती है। अतः आर्थिक मामलों तथा व्यापार आदि में सावधानी बरतें। गोचर के दौरान आप किसी तीर्थ यात्रा पर जा सकते हैं। पारिवारिक जीवन की दृष्टि से भी गोचर प्रतिकूल रह सकता है। घर पर किसी तरह का क्लेश हो सकता है। आपकी मानसिक शांति भंग भी हो सकती है। पिताजी की सेहत का ख्याल रखें। .

उपाय: प्रतिदिन “ॐ दुं दुर्गाय नमः!” मंत्र को जपें।

वृश्चिक

राहु आपकी राशि से आठवें भाव में गोचर करेगा। कुंडली में 8वाँ जीवन एवं मृत्यु के बारे में बताता है। राहु गोचर 2019 आपके लिए ज्यादा अनुकूल नहीं है। इस दौरान वाहन चलाते समय सावधानी बरतें और ट्रैफिक नियमों का पालन करें। स्वास्थ्य को लेकर भी किसी तरह की लापरवाही न बरतें। स्वस्थ्य भोजन और शारीरिक योग व व्यायाम करें। स्ट्रीट फूड्स से परहेज करें। आमदनी की अपेक्षा ख़र्चा अधिक हो सकता है। पारिवारिक जीवन में क़रीबी लोग आपके प्रति रूखा व्यवहार अपना सकते हैं। ऐसे में धैर्य से काम लें और विवाद को सुलझाने का प्रयास करें। दोस्तों और परिजनों से व्यवहारिक रिश्ता बनाए रखें।

उपाय: शनिवार की दोपहर को नीले वस्त्र दान करें।

जानें सूर्य और चंद्र ग्रहण 2019 की तारीखें

धनु

राहु आपकी राशि से सातवें भाव में गोचर करेगा। कुंडली में 7वाँ भाव वैवाहिक जीवन को दर्शाता है। राहु गोचर 2019 आपके वैवाहिक जीवन को प्रभावित करेगा। मैरिड लाइफ में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इस समय जीवनसाथी से बहसबाज़ी न करें और अपने धैर्य और संयम को बनाए रखें। ध्यान रखें, समय हमेशा एक समान नहीं रहता है। इसलिए परिस्थिति शीघ्र बदलेगी और आपका अच्छा समय प्रारंभ होगा। जीवनसाथी से संवाद बनाए रखें और रिश्ते में मधुरता का भाव बना रहे इसका भी ध्यान रखें। यदि कोई बात हो तो साथी से उस बारे में चर्चा करें। जीवनसाथी पर भरोसा जताएँ। परिजनों एवं बिजनेस पार्टनर से मतभेद हो सकते हैं।

उपाय: राहु-केतु की शांति का उपाय करें।

मकर

राहु आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा। गोचर के दौरान आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। आपके भाग्य का सितारा चमकेगा और करियर में उन्नति होगी। बिजनेस व जॉब क्षेत्र में आपके प्रदर्शन को सराहा जाएगा। नौकरी में पदोन्नति होगी। छात्रों के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल रहेंगी। परीक्षा में आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। यदि आपने किसी बैंक में लोन के लिए आवेदन किया है तो उसमें आपको सफलता मिलेगी। आपका स्वास्थ्य जीवन भी अच्छा बीतेगा। यदि आप राजनीति क्षेत्र में हैं तो आपको अच्छे परिणाम मिलेंंगे।

उपाय: “ॐ रां राहवे नमः!” मंत्र का जाप करें।

कुंभ

राहु गोचर 2019 आपके लिए कम अऩुकूल रह सकता है। राहु आपकी राशि से पाँचवें भाव में गोचर करेगा। इस दौरान आपको संकट का सामना करना पड़ सकता है। आर्थिक क्षेत्र में हानि, व्यापार में घाटा और नौकरी में असफल होने की संभावना है। इस समय शेयर बाज़ार में निवेश से दूर रहें। पारिवारिक जीवन में तनाव की स्थिति रह सकती है। परिजनों से मतभेद होने की संभावना है। जीवनसाथी से मधुर संबंध बनाए रखें और बेवजह की बहसबाज़ी से दूर रहें। गोचर के दौरान आपके ऊपर पारिवारिक जिम्मेदारियाँ बढ़ सकती हैं। जीवनसाथी अथवा माता-पिता को आपसे काफी उम्मीदें होंगी और आप उनकी आशाओं को पूरा करने में सफल होंगे।

उपाय: पक्षियों को सात प्रकार के अनाज खिलाएँ।

मीन

राहु आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। गोचर आपके पारिवारिक, करियर और आर्थिक जीवन पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। माताजी का स्वास्थ्य गिर सकता है। इसलिए उनकी सेहत का ख़्याल रखें। कार्यक्षेत्र में आपके ऊपर कार्य का भार रहेगा। अतः आप अपने काम में अधिक व्यस्त रह सकते हैं। करियर में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं आर्थिक क्षेत्र में आमदनी की अपेक्षा ख़र्च में वृद्धि संभव है।

उपाय: ग़रीब लोगों को कंबल बाँटें।

Do you want to get married?

FREE Matrimony site by No. 1 astrology portal AstroSage.com