Personalized
Horoscope

Makara Masik Rashifal in Hindi - Makara Horoscope in Hindi - मकर मासिक राशिफल

Capricorn Rashifal

स्वास्थ्य: यदि आपके स्वास्थ्य पर नजर दौड़ाई जाए तो यह पता चलता है कि राशि का स्वामी राशि में स्थित रहेगा, लेकिन उससे सप्तम भाव में अष्टमेश सूर्य का प्रभाव होने के कारण आपको बुखार, तेज सिर दर्द या शरीर में दर्द की शिकायत रह सकती है। इसके अतिरिक्त आपको स्वास्थ्य के मोर्चे पर थोड़ा सा संघर्ष करना पड़ सकता है, क्योंकि आप का छठा और बारहवाँ भाव कई ग्रहों की स्थिति के कारण एक्टिवेट रहेगा। वहीं छठे भाव का स्वामी बुध छठे भाव में राहु और शुक्र के साथ विराजमान है, जो कि इस महीने गोचर के दौरान सातवें और आठवें भाव में भी जाएगा। यह स्थिति आपको कोई रोग दे सकती है। साथ ही वाहन से दुर्घटना होने के योग भी बन सकते हैं। इसलिए सावधानी पूर्वक वाहन चलाना ही बेहतर रहेगा। आपके जोड़ों में दर्द की शिकायत आपको परेशान कर सकती है और इसके अतिरिक्त कुछ लोगों को पैर के तलुवों में दर्द की शिकायत का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि आपकी राशि का स्वामी मजबूत स्थिति में है, जिस वजह से ये दिक्कतें कुछ समय के लिए ही रहेंगी और धीरे-धीरे आप इन से निजात पा जाएंगे। फिर भी नज़रअंदाज़ ना करें तो ही बेहतर होगा।

कैरियर: अब बात करते हैं आपके कैरियर की। आपके दशम भाव का स्वामी शुक्र छठे भाव में राहु और बुध के साथ विराजमान है, जिस पर मंगल की दृष्टि भी है। इसके अलावा दशम भाव पर शनि की दृष्टि भी बरकरार रहेगी, जिसकी वजह से कार्यक्षेत्र में आपके लिए अच्छे समाचारों की प्राप्ति हो सकती है। आपके काम का आपको भरपूर फल मिलेगा और आप अपने परिश्रम से प्रसन्न रहेंगे क्योंकि उसका आपको लाभ मिल रहा है। कार्य क्षेत्र में स्थिति आप के अनुरूप रहेंगी और आपकी बातों को सुना और समझा तथा माना भी जाएगा। इससे अधिक आप और क्या उम्मीद कर सकते हैं। यदि आपके व्यापार की बात की जाए तो ध्यान दें, इस दौरान बिज़नेस को अधिक विस्तार देने से आपको बचना चाहिए। थोड़ा आगे के लिए इस व्यवस्था को टाल देंगे तो बेहतर होगा। अपने बकायेदारों पर जोर डालें कि वे आपके धन की वापसी करें, ताकि आप बिज़नेस में मजबूत तरीके से खड़े हो सकें। आपकी रिस्क लेने की कैपेसिटी बढ़ेगी, जो आपको बड़ी बड़ी डील फाइनल करने में सफल बनाएगी। यह समय नीतिगत रूप से आगे बढ़ने का है क्योंकि यही नीतियाँ आने वाले समय में आपके लिए बेहतर नतीजे लेकर आएँगी।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: यदि आपके प्रेम जीवन की बात की जाए तो यह मान लीजिए कि प्यार के मामले में आप काफी खुल कर जी सकेंगे और अपने प्रियतम से अपने प्यार का खुलकर इज़हार करेंगे, क्योंकि राहु, शुक्र के साथ उपस्थित है और बुध उसको बल दे रहा है। ऐसी स्थिति में आपकी बातों से ही प्यार झलकेगा और आपके प्रियतम को यह समझते देर न लगेगी कि आप कब रोमांटिक मूड में है और अपना प्यार जताना चाहते हैं, लेकिन ये सभी ग्रह छठे भाव में स्थित हैं तथा इनके ऊपर मंगल की दृष्टि भी है, जिसकी वजह से कभी-कभी कोई बात बतंगड़ बन जाती है और उससे रिश्ते पर गलत असर पड़ता है। यही स्थिति आपके साथ भी हो सकती है। इसके अतिरिक्त आपका कोई खास मित्र जो आप दोनों का ही मित्र हो, आपके बीच तनाव की वजह बन सकता है। इसलिए ध्यान रखें कि इस रिश्ते में किसी तीसरे को बिल्कुल भी दखलंदाज़ी न करने दें, तभी आपकी लव लाइफ ठीक ठाक चल पाएगी। इस दौरान आप किसी लंबी यात्रा की प्लानिंग कर सकते हैं। यदि आप विवाहित हैं तो सप्तम भाव में बैठे सूर्य देव और उन पर पड़ रही शनि की दृष्टि आपको कुछ दिक्कतें दे सकती है क्योंकि सूर्य और शनि की आमने-सामने की स्थिति दांपत्य जीवन में तनाव और झगड़े की वजह बन सकती है। इसके अतिरिक्त महीने के उत्तरार्ध में सूर्य आपके अष्टम भाव में जाएगा, लेकिन मंगल चतुर्थ भाव में आकर सप्तम भाव को देखेगा। वह स्थिति भी आपके दांपत्य जीवन के लिहाज से अधिक अनुकूल नहीं कही जा सकती है। इस प्रकार यह महीना आपके दांपत्य जीवन के लिए थोड़ा तनावपूर्ण ही रहेगा। हालांकि दूसरी ओर जब सूर्य आपके सप्तम भाव से निकल जाएगा, तब इस स्थिति में थोड़ा सुधार और आएगा क्योंकि बुध भी सप्तम भाव में आ जाएगा और आपसी बातचीत से आप अपने मन की गांठों को खोल कर अपने रिश्ते को बेहतर बना पाएंगे।

सलाह: इस महीने उपाय के तौर पर आपको काले कुत्ते को रोटी तथा दूध देना चाहिए तथा रविवार के दिन भैरव बाबा के दर्शन अवश्य करने चाहिए। इसके अतिरिक्त आपको नियम पूर्वक गणपति महाराज की आराधना करनी चाहिए और गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ करना चाहिए। आप चाहें तो अच्छी गुणवत्ता वाला नीलम रत्न भी धारण कर सकते हैं, जिससे आपके स्वास्थ्य में भी वृद्धि होगी और आपको जीवन में कर्म क्षेत्र तथा अन्य सभी मामलों में अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। इसके अतिरिक्त चीटियों को आटा डालना भी बेहतर रहेगा।

सामान्य: मकर राशि के लोगों की सोच में बदलाव आएगा और वे हर बात के दोनों पहलुओं को समझकर ही कोई निर्णय लेंगे। उनकी निर्णय लेने की शक्ति इस महीने उनके बहुत काम आएगी। उनके साहस तथा पराक्रम में भी वृद्धि होगी, जो उन्हें हर चुनौती का डटकर सामना करने योग्य बनाएगा। इसके अतिरिक्त आपको इस महीने विशेष रूप से अपने स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति पर ध्यान देना होगा क्योंकि यही दो विषय इस महीने अधिक कमजोर हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त दांपत्य जीवन में भी कुछ तनाव रह सकता है, लेकिन आप समय रहते उसे सुलझा लेंगे क्योंकि आपके अंदर वह दूरदर्शिता है, जो दूर की बातें सोच कर उसके अनुसार आचरण कर सकते हैं। यह महीना आपके लिए मिले जुले परिणाम लेकर आएगा।

वित्त: आइए बात करते हैं आपके आर्थिक जीवन की। अधिकतम ग्रहों का प्रभाव आपके बारहवें और छठे भाव को प्रभावित कर रहा है, जिसकी वजह से इस महीने आप को आर्थिक तौर पर कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है और विशेषकर आपके खर्चों में अत्यधिक वृद्धि होने से आपकी आमदनी आप को कम महसूस हो सकती है और आपके ऊपर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ सकता है। कुछ धार्मिक कार्य में भी आपको खर्च करना पड़ेगा और इसके अतिरिक्त परिवार के लोगों के संदर्भ में भी कुछ खर्चे आपको इस महीने करने पर सकते हैं। सभी ओर से खर्च होगा और उसकी वजह से आर्थिक दबाव आपके ऊपर रहेगा, जिसकी वजह से आपकी आमदनी कम पड़ सकती है और खर्चे अधिक होने से आर्थिक स्थिति पर बेहद बोझ बढ़ने की पूरी संभावना है। इसलिए आपको अभी से यह सोचना होगा कि किस प्रकार इन खर्चों को कम किया जाए, ताकि आप अच्छी आर्थिक स्थिति में बने रह सकें। कुल मिलाकर यह महीना आर्थिक तौर पर कुछ कमजोर दिखाई देता है। हालांकि मंगल के चतुर्थ भाव में महीने के मध्य में गोचर करने के बाद आपकी आमदनी में वृद्धि होगी और उसका चतुर्थ भाव में आने से आप कोई चल अथवा अचल संपत्ति भी खरीद सकते हैं,जिससे आपको थोड़ा सुकून अवश्य मिल जाएगा। अत्यधिक मौज मस्ती पर भी खर्च करना आपको परेशान कर सकता है। कुछ लोग इस दौरान अपना ध्यान कर्ज चुकाने पर लगाएंगे, जिसकी वजह से कर्ज का बोझ तो कम होगा, लेकिन आर्थिक तौर पर वह थोड़ा कमजोर हो जाएंगे। इस दौरान आपको किसी को भी अपना धन उधार देने से बचना चाहिए, क्योंकि उसके लौटने की संभावना थोड़ी कम होगी। निवेश बेहद ही सोच समझ कर करना उचित रहेगा।

पारिवारिक: पारिवारिक नज़रिए से देखें तो महीना काफी अच्छा नजर आता है। परिवार के लोगों को सुख की प्राप्ति होगी और परिवार में सामंजस्य बना रहेगा, जिससे आप भी प्रसन्न रहेंगे और घर परिवार वाले भी। महीने के उत्तरार्ध में जब मंगल का गोचर आपके चतुर्थ भाव में होगा, उस दौरान आप कोई संपत्ति खरीद सकते हैं, जिससे परिवार में ख़ुशियाँ आएँगी और सभी लोग प्रसन्न दिखेंगे। हालांकि इस दौरान ही आपकी माताजी का स्वास्थ्य गिर सकता है, जिसकी वजह से आपको उनकी चिंता होगी। छठे भाव का प्रभाव अधिक होने से दूसरों की बातों में व्यर्थ टाँग अड़ाना आपके लिए बेहतर रिजल्ट नहीं देगा। हालांकि दूसरे भाव का स्वामी शनि आपकी राशि में होने से कुटुंब का आपको पूरा सहयोग मिलेगा और धार्मिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे, जिसमें परिवार की भागीदारी भी होगी और इससे आप सभी लोग एक दूसरे के और भी अधिक निकट आएँगे। महीने के मध्य में आपके भाई बहन आपके खर्चे का कारण बन सकते हैं, लेकिन आप को उन पर खर्च करते हुए बिल्कुल भी बुरा नहीं लगेगा क्योंकि यह आपको आत्मिक शांति देगा।