Personalized
Horoscope

Tula Masik Rashifal in Hindi - Tula Horoscope in Hindi - तुला मासिक राशिफल

Libra Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य के मामले में जून का महीना आपके लिए मिले जुले परिणाम लेकर आएगा, क्योंकि आपका स्वास्थ्य उतार-चढ़ाव से भरा रहने वाला है। आपकी राशि का स्वामी पूरे महीने अष्टम भाव में रहेगा। साथ ही महीने के पूर्वार्ध में सूर्य भी उसके साथ रहने वाला है। ऐसे में शारीरिक कष्ट होने की संभावना बन रही है। वहीं आपकी राशि के लिए प्रबल मारकेश मंगल पंचम भाव से निकलकर छठे भाव में प्रवेश करेगा। यह स्थिति भी आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं होगी। ऐसे में आपको विशेष रूप से रक्त संबंधित समस्याओं से बच कर रहना होगा और महिलाओं को कुछ ऐसी समस्याएं प्रभावित कर सकती हैं, जो महिलाओं को ही होती हैं। इसके अतिरिक्त चतुर्थ भाव में शनि और बृहस्पति की युति आपको फेफड़ों और छाती से संबंधित समस्या देने में सक्षम है। इन सभी स्थितियों को ध्यान में रखते हुए आपको छोटी से छोटी स्वास्थ्य समस्या को भी नज़रअंदाज़ करने से बचना चाहिए। तभी आप सुखद जीवन व्यतीत कर पाएंगे। यदि आप कोई दवाई ले रहे हैं तो, उसे अभी जारी रखें क्योंकि इस दौरान रोग उभर सकता है।

कैरियर: करियर की बात की जाए तो, नवम भाव का स्वामी नवम भाव में राहु के साथ विराजमान हैं और सूर्य देव शुक्र देव के साथ आठवें भाव में है। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य का गोचर नवम भाव में होगा और मंगल का गोचर छठे भाव में होगा। दोनों ही स्थितियाँ आपके कार्यक्षेत्र के लिए काफी बेहतर रहेंगी और आपको नौकरी में ट्रांसफर होने अथवा नौकरी बदलने की संभावना भी रहेगी, लेकिन यह नई नौकरी आपकी पिछली नौकरी के मुकाबले काफी बेहतर परिणाम देगी। दशम भाव पर पड़ रही शनि और बृहस्पति की दृष्टि के कारण आप अपने काम के माहिर बनेंगे और आप के हुनर की सभी तारीफ करेंगे। लोग आप से सलाह लेने आएँगे और इसके साथ ही साथ कार्यस्थल पर आप का दबदबा बढ़ेगा। हालांकि महीने के पूर्वार्ध में आपको कोई भी गलत कार्य नहीं करना चाहिए। विशेषकर अपने कार्य क्षेत्र में कुछ भी गलत करने से बचें, क्योंकि उसका दंड आपको मिल सकता है। महीने का उत्तरार्ध काफी बेहतर रहेगा।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: प्रेम संबंधित मामलों के लिए आपका यह महीना शुरुआती दौर में थोड़ा धीमा रहेगा और इस दौरान आपको जल्दबाजी से बचना चाहिए, क्योंकि पंचम भाव में मंगल की स्थिति प्रेम संबंधों में तीखी बहस और गर्मा गर्मी करवा सकती है। ऐसे में रिश्ता खराब होने की संभावना अधिक रहती है, इसलिए बेहतर होगा कि शुरुआत के दिनों में ज्यादा अपने प्रियतम से मिलने का प्रयास ना करें और सभी महत्वपूर्ण मुलाक़ातें महीने के उत्तरार्ध में रखें, जब मंगल आपके छठे भाव में चला जाए। इससे आपके प्रेम जीवन में समस्याएं कम आएँगी और आपको उनसे निपटना भी आसान होगा। हालांकि इस दौरान आपका प्रियतम आपको खुश रखेगा और प्रयास करेगा कि आपके चेहरे की हंसी गायब ना हो। वास्तव में यही प्यार में होता है कि हम एक दूसरे को समझें और उन्हें खुश रखने का प्रयास करें। यदि आप शादीशुदा है तो, महीने का पूर्वार्ध काफी बेहतर रहेगा और इस दौरान आपके जीवन साथी को कोई बड़ी उपलब्धि भी हाथ लग सकती है, जो उनके कार्य क्षेत्र से संबंधित होगी और उन्हें धन लाभ भी हो सकता है। यह धन लाभ आपकी भी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने में कारगर साबित होगा। महीने के उत्तरार्ध में सप्तम भाव का स्वामी मंगल छठे भाव में गोचर करेगा, जिससे जीवन साथी को स्वास्थ्य कष्ट हो सकते हैं अथवा उन्हें किसी आवश्यक कार्य के कारण सुदूर यात्रा पर जाना पड़ सकता है। हालांकि आपके जीवन दांपत्य जीवन पर कोई बुरा प्रभाव नजर नहीं आ रहा है। इस वजह से कहा जा सकता है कि दांपत्य जीवन के लिए महीना अच्छा रहेगा और आपकी एक दूसरे के प्रति समझदारी विकसित होगी। संतान महीने की शुरुआत में थोड़ी मौज मस्ती में अधिक और पढ़ाई से दूर हटने वाली होगी और थोड़ी गुस्सैल भी होगी लेकिन धीरे-धीरे स्थिति सुधरती चली जाएंगी और महीने का उत्तरार्ध बेहतर तरीके से आगे बढ़ेगा।

सलाह: इस महीने आपको उपाय के रूप में गौ माता की नियमित सेवा करनी चाहिए और उन्हें, गुड़ तथा आटा खिलाना चाहिए। इसके अतिरिक्त गुड़, चना और लाल मसूर की दाल का दान बेहतर रहेगा। आपको श्री शनि देव जी के बीज मंत्र “ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनेश्चराय नमः” का नियमित जाप करना चाहिए। भैरव मंदिर जाकर इमरती का भोग लगाएँ और लोगों में बाँट दें। इससे आपकी काफी समस्याएं दूर होने लगेंगी। आपको उत्तम क्वालिटी का पन्ना रत्न शुक्ल पक्ष के बुध वार को अपनी कनिष्ठिका अंगुली में धारण करना चाहिए। अपनी किसी बहिन, मौसी अथवा बुआ जी को बुध वार के दिन गहरे रंग की कांच की चूड़ियाँ या हरे रंग के कपड़े भेंट करना भी आपके लिए बेहतर रहेगा।

सामान्य: तुला राशि के जातक इस महीने अपने स्वास्थ्य के प्रति थोड़े सावधान रहें, क्योंकि राशि का स्वामी अष्टम भाव में है और सूर्य के साथ बैठा है। ऐसे में आपके कुछ पुरानी राज़ भी बाहर निकल सकते हैं, जिनके कारण आपकी मानहानि हो सकती है। इसलिए सभी ओर विशेष रूप से ध्यान दें। यदि आपकी गलती हो तो, उसे स्वीकार करने से परहेज ना करें, क्योंकि ऐसा करके आप अपने ही पक्ष में लोगों को जोड़ेंगे। आपके मन में कुछ नई योजनाएं बनेंगी, जो दीर्घकाल तक लाभ देने वाली होंगी। इस दौरान आप अपने मकान की मरम्मत का कार्य भी करा सकते हैं।

वित्त: यदि आपके आर्थिक जीवन पर नजर डाली जाए तो, ऐसा पता चलता है कि जून महीने के दौरान आपको सामान्य तौर पर धन लाभ होगा और यह धन आपको बुध देव की कृपा से प्राप्त होगा। वहीं नवम भाव में बुध देव बैठकर आपके भाग्य को मजबूत बनाएँगे और विदेशी स्रोतों से भी धन की आमदनी बढ़ेगी। साथ में बैठा उच्च का राहु आपको अनेक युक्तियों से धन कमाने के उपाय बताएगा, जो भविष्य में आपके बहुत काम आएँगे। आपके खर्चों में कटौती होगी, जिसकी वजह से भी आपकी आमदनी कम होते हुए भी अपनी आर्थिक स्थिति को बैलेंस कर पाएंगे, लेकिन आठवें भाव में बैठे शुक्र और सूर्य की वजह से आपको कुछ धन हानि का सामना करना पड़ सकता है। इससे बचने के लिए अपने धन को सही तरह से निवेश करें और दीर्घकालीन निवेश को अल्पकालीन निवेश पर तरजीह दें। दैनिक आवश्यकताओं के लिए धन की पूर्ति आराम से होगी और कुछ हद तक आपकी योजनाएं आपके लिए फंड जुटा पाने में सफल होंगी। इस प्रकार आपके लिए यह महीना आर्थिक तौर पर ठीक ठाक निकल जाएगा।

पारिवारिक: पारिवारिक जीवन की बात करें तो, शनि बृहस्पति का योग मिले जुले परिणाम लेकर आएगा, लेकिन पहले के मुकाबले कुछ समस्याएं कम होती दिखाई देंगी और इसकी मुख्य वजह होगी आपका खुद का प्रयास। आप अपने घरेलू जीवन पर ध्यान देंगे और घरेलू समस्याओं को दूर करने में खुले तौर पर आगे बढ़ेंगे। इससे धीरे-धीरे समस्याएं समाप्त होने लगेंगी और घर में आपका मान-सम्मान भी बढ़ेगा। यदि आप किसी पुराने मकान में रहते हैं तो, उसके जीर्णोद्धार के बारे में भी थोड़ा सा विचार कर सकते हैं। छोटे भाई बहन आपके लिए सुख का माध्यम बनेंगे और मातृ पक्ष के लोगों की ओर से भी कुछ अच्छे समाचार सुनने को मिल सकते हैं। वहीं आपके पिताजी का स्वभाव थोड़ा सा तीखा हो सकता है और माताजी का स्वास्थ्य पीड़ित हो सकता है। इस ओर ध्यान दें! शेष सब अच्छा रह सकता है।