Personalized
Horoscope

Dhanu Saptahik Rashifal - Sagittarius Weekly Horoscope in Hindi - धनु साप्ताहिक राशिफल

Sagittarius Rashifal

9/23/2019 - 9/29/2019

इस सप्ताह चन्द्रमा आपके सप्तम, अष्टम, नवम और दशम भाव में गोचर करेंगे। इसके साथ ही इस सप्ताह मंगल ग्रह का गोचर आपके दशम भाव में होगा और बुध देव भी आपकी राशि के एकादश भाव में प्रवेश कर जाएंगे। चंद्र का गोचर राशि से सप्तम भाव में होने से आपके दांपत्य जीवन में बीच-बीच में तनाव आएगा जिसका बड़ा कारण होगा आप दोनों के बीच की ग़लतफहमी। इससे रिश्ते में भी तनाव रहेगा। वहीं व्यावसायिक साझेदार से भी आपके झगड़े का योग बन रहा है। बावजूद इसके इस समय आप अपने व्यापार से लाभ हासिल कर पाएंगे। इसके साथ ही जीवनसाथी के माध्यम से आपको फायदा मिलता नज़र आ रहा है। चंद्र का गोचर अष्टम भाव में होने से आपको किसी तरह की कोई शारीरिक कमज़ोरी आ सकती है। जिससे मानसिक तनाव भी बढ़ेगा। इस समय आपको अपने ससुराल पक्ष से मिलने का मौका मिलेगा। आप किसी अनचाही यात्रा पर भी जा सकते है। चंद्र का गोचर जब नवम भाव में होगा तब आपको अपनी मेहनत से अचानक से धन प्राप्ति होने का योग बनेगा। इस समय आपके पिता को स्वास्थ्य समस्या की भी संभावना रहेगी। साथ ही छोटे भाई बहनों को भी समस्या आ सकती है, जिससे आपके रिश्ते में भी तनाव देखने को मिलेगा। अंत में चंद्र का गोचर दशम भाव में होने से आपके कार्यक्षेत्र में उतार-चढ़ाव की स्थिति साफ़ देखी जायेगी। आपको इस समय गप्पबाज़ी से दूर रहना चाहिए अन्यथा ऐसा करने से आपको कोई बड़ी समस्या हो सकती है। इस समय महिलाओं से अच्छा व्यवहार करना आपके लिए सबसे बेहतर होगा क्योंकि इससे आपके सम्मान में भी इज़ाफा होगा। इसके साथ ही सप्ताह के मध्य में मंगल का गोचर आपकी राशि से दशम भाव में होगा जिसके कारण आपके शत्रु तो आप पर हावी होने की कोशिश करेंगे लेकिन आप उन्हें पूरी तरह मात देते रहेंगे। इसके साथ ही कार्यस्थल में उत्तम प्रगति मिलने का योग बन रहा है। संभावना है कि आपको कार्यस्थल पर कोई पदोन्नति का अवसर मिले। हालांकि हर प्रकार की कोंट्रोवर्सी से खुद को दूर रखें अन्यथा छवि पर बुरा असर पड़ेगा। साथ ही अपने पद का अहंकार न करें और खुद को सर्वश्रेष्ठ समझने की भूल भी न करें। इसके साथ ही बुध देव भी आपकी राशि के एकादश भाव में विराजमान हो जाएंगे जिससे आपको जबरदस्त सफलता के साथ अपने व्यापार में वृद्धि मिलेगी। छात्रों को भी अपनी शिक्षा के क्षेत्र में उन्नति मिलेगी। संतान अपने जीवन में प्रगति करेगी। और उन्हें भी अपने हर कार्य में सफलता मिलेगी।