Personalized
Horoscope

Kumbha Masik Rashifal in Hindi - Kumbha Horoscope in Hindi - कुम्भ मासिक राशिफल

Aquarius Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य के मामले में आपका यह महीना थोड़ा सा कमजोर रह सकता है, क्योंकि आपकी राशि का स्वामी शनि तो बारहवें भाव में चल ही रहा है, वहीं एकादश भाव का स्वामी बृहस्पति भी वक्री अवस्था में उसके साथ विराजमान है, जो स्वास्थ्य को पीड़ित कर सकता है। ऐसे में आपको अनिद्रा की समस्या अथवा अधिक नींद आना या फिर पेट से संबंधित दिक्कत तथा जोड़ों में दर्द होना या वात रोग अर्थात वायु रोगों से संबंधित पीड़ा हो सकती है। इसके अतिरिक्त पंचम भाव में राहु और बुध की वजह से आपको पेट में गड़बड़ी का सामना भी करना पड़ सकता है। यदि इन सभी दिक्कतों को छोड़ दिया जाए तो कोई गंभीर बीमारी फिलहाल संभावित नहीं दिखती। फिर भी आप अपनी सेहत को नज़रअंदाज़ ना करें और सेहत के प्रति जागरूक रहकर स्वयं को चुस्त-दुरुस्त रखने का प्रयास करें तथा आवश्यकतानुसार दवाई ज़रूर लें। तनाव को स्वयं पर हावी न होने दें।

कैरियर: करियर के दृष्टिकोण से यह महीना अच्छा रहेगा। आप यदि अपने गुस्से और अहम को नियंत्रण में रखेंगे, तो सभी कुछ बेहतर तरीके से चलेगा, अन्यथा आपके कुछ अपने ही आपके विरोधी के रूप में आप की जड़ें काटने का काम कर सकते हैं। ऐसे में आपको ध्यान रखना चाहिए कि परिस्थितियां अगर हाथ से निकल जाएँ तो आप बहुत परेशानी में आ सकते हैं। कार्यक्षेत्र के संबंध में कुछ यात्राएं भी करनी पड़ सकती हैं, जिनके लिए आपको तैयारी पहले से ही करनी होगी। व्यापारियों के लिए समय अच्छा रहेगा और उन्हें विदेशी माध्यमों से भी अच्छे लाभ की प्राप्ति हो सकती है। वहीं आपका जीवन साथी अगर कार्यरत है तो उन्हें इस दौरान बेहतर परिणाम मिलेंगे, जिसकी वजह से आपको भी अपने व्यापार में लाभ होगा। यदि आप किसी नए व्यापार को शुरू करने का प्रयास कर रहे हैं तो अपने जीवनसाथी का सहयोग अवश्य लें, क्योंकि उसकी वजह से ही आपको जबरदस्त फायदे के योग बनेंगे। बड़े निवेश से आपको अभी बचना चाहिए, क्योंकि वक्री बृहस्पति आपके लिए धन हानि की योग बना सकता है।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: प्रेमी युगल के लिए पंचम भाव में उपस्थित बुध काफी अनुकूल रहेगा, क्योंकि यह आपके बीच की संवाद शैली को बेहतर बनाएगा और कम्युनिकेशन के द्वारा आप एक दूसरे को और बेहतर टगरीके से समझ पाएंगे। वहीं राहु की उपस्थिति आपको मीठी मीठी बातें करने वाला बनायेगी। इसी वजह से आपकी बातों में आकर आपका प्रियतम अपनी मुस्कुराहट को छिपा नहीं पाएगा अर्थात आप के बीच का रिश्ता खुशी खुशी के साथ आगे बढ़ेगा, लेकिन यही राहु अत्यधिक अपेक्षाएँ को भी जन्म देगा, जो बाद में जाकर समस्याओं का कारण बन सकता है। ऐसे में अपने व्यवहार में थोड़ा बदलाव लेकर आएं और कोई भी ऐसा काम ना करें, जिसमें कोई जल्दबाजी करनी पड़े। आपकी लव लाइफ को बेहतर बनाना आपके ही हाथ में है। एक बात समझ लें कि ज्यादा दिखावटी ना होना बेहतर रहेगा। कोई बहुत ज्यादा महँगा तोहफ़ा देकर या उन्हें इंप्रेस करने के लिए कुछ भी ऐसा काम ना करें, जो वास्तव में उन्हें दुख पहुंचा जाये। यदि आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो आपकी लाइफ अच्छी रहेगी। यदि आप शादीशुदा हैं तो मान कर चलिए कि यह महीना धीरे-धीरे आपके पक्ष में स्थितियों को मोड़ेगा। हालांकि शुरुआत में मंगल की स्थिति ज्यादा अनुकूल नहीं रहेगी, फिर भी जितना तनाव रिश्ते में चला आ रहा था, वह धीरे-धीरे समाप्त होने लगेगा। यदि आपका जीवन साथी कार्यरत है, तो उन्हें अपने कार्य क्षेत्र में जबरदस्त मुनाफ़ा मिल सकता है, जिसकी वजह से आपको भी खुशी मिलेगी और आपके परिवार की आर्थिक स्थिति और बढ़िया हो जाएगी। आप दोनों ही अपनी संतान के प्रति थोड़े चिंतित हो सकते हैं, क्योंकि ऐसी संभावनाएं हैं कि इस महीने के दौरान उनकी संगति थोड़ी सी खराब हो जाए, इसलिए उन पर विशेष ध्यान दें। हालांकि आपके बच्चे मानसिक तौर पर बेहद मजबूत होंगे और उनकी तार्किक क्षमता भी इस दौरान काफी बढ़िया रहेगी।

सलाह: जून महीने के दौरान आपको उपाय के तौर पर भगवान भैरव नाथ की उपासना करनी चाहिए तथा रविवार के दिन भैरव मंदिर जा कर दो इमरती और दूध अर्पित करना चाहिए। इसके अतिरिक्त आपको मां दुर्गा की चालीसा का पाठ करना चाहिए, जिससे कि राहु का प्रभाव नियंत्रित रह सके। इसके अतिरिक्त आप उत्तम गुणवत्ता का ओपल रत्न धारण कर सकते हैं, जो शुक्ल पक्ष के शुक्रवार को अनामिका उंगली में चाँदी अथवा सफेद सोने में कि मुद्रिका में धारण किया जा सकता है और इसके अतिरिक्त आपको बिच्छू जड़ी अथवा धतूरे की जड़ काले कपड़े में लपेट कर शनिवार के दिन दाहिनी बाज़ू अथवा गले में धारण करना चाहिए, जिससे शनिदेव का अनुकूल प्रभाव आपको प्राप्त हो सके। आपके लिए माता के किसी भी रूप की उपासना करना बहुत अच्छा रहेगा, विशेष रूप से माता सरस्वती, राधा जी अथवा तारा माता की पूजा करना विशेष फलदाई साबित होगा। राह के कुत्तों को दूध और रोटी अवश्य दें।

सामान्य: कुंभ राशि के जातक होने के कारण आप किसी भी ठोस नतीजे तक पहुंचने से पहले थोड़ा समय लेते हैं और उस बात की गहराई तक जाकर ही अपना निष्कर्ष देते हैं। आपकी यही खूबी आपके बहुत काम आएगी और इस महीने आपको इसकी वजह से काफी लाभ होगा, लेकिन अत्यधिक सोचने की आदत से आपको इस दौरान थोड़ा परहेज करना होगा, क्योंकि वह स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकता है। पारिवारिक जीवन सामान्य तौर पर चलता रहेगा। इस दौरान आपकी संतान से संबंधित आपको कोई अच्छी सूचना मिल सकती है। आपके खर्चे काफी बढ़े चढ़े रहेंगे, जिन्हें नियंत्रण में रखना आवश्यक होगा। आपकी राशि में मंगल की उपस्थिति आपको प्रभावी भी बनाएगी और गुस्से वाला भी। इसलिए थोड़ा संभल कर चलें तथा इस दौरान आपको किसी वाहन की प्राप्ति होने के अच्छे योग बनेंगे। जो लोग सरकारी क्षेत्र में कार्यरत हैं, उन्हें सरकार की ओर से मकान अथवा वाहन मिल सकता है।

वित्त: आर्थिक मामलों के लिए यह महीना मिलाजुला रहने वाला है, क्योंकि जहां बुध की कृपा दृष्टि आप पर बरसेगी और आपको धन प्राप्ति होगी, वहीं दूसरी ओर ग्यारहवें भाव का स्वामी बारहवें भाव में जाना और वहां पर शनि की स्थिति, आपके खर्चे को काफी समय तक बढ़ा सकती है। इसके परिणाम स्वरूप आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर होने की संभावना अधिक बलवान होगी। ऐसे में आपका पूरा ध्यान आमदनी में बढ़ोतरी के साथ-साथ अपने ख़र्चों को नियंत्रण में रखने पर होना चाहिए, क्योंकि चाहे आप कितना भी कमाएं, लेकिन आपके खर्चे इतने हो सकते हैं कि वे आपकी आमदनी को हजम कर जाएँ, इसलिए आपको व्यर्थ के खर्चों से निजात पाना ही होगा। व्यापार से जुड़े लोगों को अच्छा लाभ इस दौरान मिल सकता है, विशेषकर महीने के उत्तरार्ध में सूर्य का पंचम भाव में गोचर होने के बाद बिज़नेस में कुछ अच्छे लाभ के योग बनेंगे।

पारिवारिक: यदि आपके पारिवारिक जीवन पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि चतुर्थ भाव में बैठे शुक्र देव आपके पारिवारिक जीवन को ख़ुशियों से भरपूर रखेंगे और परिवार के लोगों में एक दूसरे के प्रति प्रेम और स्नेह की भावना बढ़ेगी। साथ ही साथ सूर्य देव भी चतुर्थ भाव में मौजूद हैं, जिनकी वजह से परिवार में अहम की लड़ाई भी हो सकती है, क्योंकि हर आदमी अपने आप को दूसरे से बड़ा साबित करने का प्रयास करेगा और यह परिवार में अशांति का कारण बन सकता है। ऐसे में आपको अपने ऊपर नियंत्रण रखना चाहिए और किसी भी सूरत में घर की स्थिति को बिगड़ने नहीं देना चाहिए। छोटे भाई बहन आपके पक्ष में रहेंगे। हालाँकि इस दौरान बड़े भाई बहनों के द्वारा घर का धन खर्च किया जाएगा, जिसका बुरा आपको भी लगेगा, लेकिन अभी शांत रहना ही बेहतर होगा और चीज़ों को देखना और समझना आपको सही निर्णय लेने में मदद करेगा।