Personalized
Horoscope

Meena Masik Rashifal in Hindi - Meena Horoscope in Hindi - मीन मासिक राशिफल

Pisces Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य जीवन का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, इसलिए इस पर बात करना सबसे अधिक आवश्यक है। फरवरी 2020 के दौरान आपकी राशि का स्वामी बृहस्पति दशम भाव में राहु और केतु के प्रभाव में रहेगा और महीने के पहले सप्ताह के अंदर ही मंगल का गोचर भी दशम भाव में होगा, जिससे बृहस्पति काफी हद तक कमजोर हो सकता है, क्योंकि केतु के साथ मंगल का प्रभाव बृहस्पति के प्रभाव को कमजोर कर देगा। ऐसे में आपको थोड़ी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं परेशान कर सकती हैं। इसके साथ ही सूर्य और शनि का योग 11वें स्थान में होने से आपको हड्डियों अथवा पैरों में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन अधिक घबराने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि इस दौरान किसी बड़ी बीमारी के होने की संभावना ना के बराबर दिखाई देती है। महीने के शुरुआती दौर में अष्टम भाव का स्वामी शुक्र द्वादश भाव में गोचर करेगा, जिससे थोड़ी शारीरिक समस्याएं सिर उठा सकती हैं, लेकिन जैसे ही शुक्र राशि बदलकर प्रथम भाव में आएगा, आपको थोड़ी परेशानियों के साथ-साथ कुछ अच्छी बातें भी पता चलेंगी, जिससे आपका मन खिला-खिला हो जाएगा। आपको अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखना चाहिए और उसके लिए योग अथवा ध्यान का सहारा लिया जा सकता है। इसके साथ ही नियमित रूप से व्यायाम करें, भरपूर मात्रा में जल पियें तथा खान-पान की आदतों पर नियंत्रण रखें। इससे आप एक चुस्त-दुरुस्त जीवन प्राप्त करेंगे।

कैरियर: यदि इस महीने के दौरान आपके करियर पर नजर डाली जाए तो, हम देखते हैं कि दशम भाव में धनु राशि का बृहस्पति मजबूत स्थिति में है और आपको कार्यक्षेत्र में सिरमौर बनाने के लिए तैयार है, लेकिन इसके साथ साथ राहु केतु का असर भी दशम भाव पर होने से बीच-बीच में स्थितियां आपको परेशान करती रहेंगी। हालांकि आपकी सोच आपको सबसे ऊपर रखेगी और आपके काम की तारीफ आप के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जाएगी, लेकिन फिर भी आपको अत्यधिक आत्मविश्वास से बचना चाहिए और अपने काम पर भरोसा करते हुए अच्छा प्रदर्शन निरंतर जारी रखने की कोशिश करनी चाहिए। मंगल का गोचर दशम भाव में होने से आपको अनुकूल परिणाम मिलेंगे और आपके अधिकार तथा पद की वृद्धि हो सकती है, जिसकी वजह से आप के वेतन में भी वृद्धि होगी और आपकी प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। हालांकि इसके बाद आपके व्यवहार में भी कुछ परिवर्तन आ सकता है और संभवतः आप अधिक गुस्से वाले व्यक्ति के रूप में अपने मातहतों को थोड़ा परेशान कर सकते हैं। इसलिए सलाह दी जाती है कि आप इस स्थिति से बच कर रहें, क्योंकि ऐसा करना आप की छवि को नुकसान पहुँचाएगा। यदि आप व्यापार करते हैं तो, व्यापार के दृष्टिकोण से समय अधिक अनुकूल नहीं हैं, क्योंकि बुध की स्थिति द्वादश भाव में होने से आपको व्यापारिक सिलसिले में अधिक खर्चे करने पड़ेंगे और उसके बदले में आपको आमदनी थोड़ी कम प्राप्त होगी। जब सूर्य का गोचर आपके बारहवें भाव में होगा, तब आपको खर्चों में और वृद्धि का सामना करना पड़ेगा, लेकिन तब तक शनिदेव ग्यारहवें भाव में रहकर अपना काम कर देंगे और आपकी आमदनी का कोई निश्चित जरिया आपको प्राप्त हो जाएगा। इस प्रकार आप को कुछ चुनौतियों का सामना करते रहना पड़ेगा, लेकिन साथ ही साथ अच्छे परिणामों की प्राप्ति भी होगी। फरवरी 2020 आपके काम अर्थात करियर के लिए मिश्रित परिणाम देगा।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: प्रेमी युगल के लिए यह महीना काफी चुनौतीपूर्ण रहने वाला है, क्योंकि पंचम भाव पर सूर्य और शनि की स्थिति विच्छेदनकारी साबित हो सकती है और ऐसे में संभव है कि आप में से कुछ लोगों का रिश्ता टूट जाए। सूर्य के एकादश भाव से निकलने के बाद स्थिति कुछ समय के लिए सुधर सकती है, लेकिन उससे पहले ही दशम भाव में मंगल का गोचर होगा और वहां से वह पूर्ण अष्टम दृष्टि से आपके पंचम भाव को देखेगा, जिससे प्रेम संबंधों में कड़वाहट घुल सकती है और आपके प्रियतम का स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है। ऐसे में उनका व्यवहार थोड़ा चिड़चिड़ा हो सकता है और उसकी वजह से आपके बीच के संबंध प्रभावित होंगे। यदि आप अपने रिश्ते को बचाना चाहते हैं तो, कदम कदम पर संभल कर चलें और कुछ भी ऐसा ना करें जिससे आपके प्रियतम को मानसिक रूप से तनाव मिले। यदि वह गुस्से में आकर कुछ आपसे कह भी दें तो, बुरा समय समझ कर इस समय को निकल जाने दें। आशा की डोर ना छोड़ें, आने वाला समय अच्छा होगा। यदि विवाहित जातकों की बात की जाए तो, फरवरी का महीना आपके दांपत्य जीवन के लिए पहले के मुकाबले काफी अच्छा रहने वाला है। विशेष रुप से आपके रिश्ते में प्यार बढ़ेगा और आप दोनों के बीच की नजदीकियां भी बढ़ेंगी, जिससे आपका रिश्ता पहले के मुकाबले और भी मजबूत हो जाएगा। सप्ताह के शुरुआती कुछ दिन थोड़े कमजोर रह सकते हैं, लेकिन जैसे ही शुक्र आपकी राशि अर्थात आप के प्रथम भाव में गोचर करेगा, वह पूर्ण सप्तम दृष्टि से आपके सप्तम भाव को अर्थात दांपत्य जीवन के भाव को देखेगा और इससे आप दोनों के बीच संबंध सुधरेंगे। यदि पहले से किसी बात को लेकर आप दोनों के बीच कोई ग़लतफहमी है अथवा समस्या चल रही है, तो इस दौरान वह समस्या दूर हो सकती है। इसके लिए आप दोनों को आपसी बातचीत से मामले को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए। आपको इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि काम अपनी जगह है और परिवार अपनी जगह। ऐसे में काम के बीच से समय निकाल कर कुछ समय अपने जीवन साथी को भी दें, ताकि उन्हें अकेलापन महसूस ना हो और इस रिश्ते में वह खुश रह सकें।

सलाह: फरवरी महीने के कुछ विशेष उपाय हैं जिन्हें यदि आप पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ करेंगे तो आप आने वाली चुनौतियों का सामना करने में असमर्थ रहेंगे और कुछ परेशानियों से मुक्ति पा लेंगे। इस महीने आपको अपने मस्तक पर प्रतिदिन केसर का तिलक लगाना चाहिए तथा उत्तम गुणवत्ता का पुखराज रत्न सोने की अंगूठी में जड़वाकर बृहस्पतिवार के दिन दोपहर के समय तर्जनी उंगली में धारण करना चाहिए। आपको हनुमान जी की आराधना करनी चाहिए और मंगलवार के दिन उन्हें चोला चढ़ाना चाहिए तथा संभव हो तो सुंदरकांड का पाठ भी कर सकते हैं। मछलियों को दाना डालना भी बेहतर रहेगा और अपने घर में सेंधा नमक के पानी का पोंछा लगाएँ।

सामान्य: मीन राशि में जन्म लेने के कारण आप काफी भावुक हैं और कई बार दिमाग की जगह दिल का इस्तेमाल करते हैं जिसकी वजह से बाद में परेशानी उठाते हैं। आपकी राशि पर बृहस्पति देव की विशेष कृपा है, इस वजह से आप बुद्धिमान और ज्ञानी होते हैं और लोगों को जीवन में सही मार्ग पर लाने में अपनी ओर से प्रयास भी करते हैं, लेकिन आपका अत्यधिक भावुक होना आप की सबसे बड़ी कमज़ोरी है और इसी वजह से आप कई बार बड़े बड़े निर्णय लेने में भी परेशानी का अनुभव करते हैं। आप मानसिक तौर पर अधिक चिंतित रहते हैं क्योंकि आप हर समय कुछ ना कुछ सोचने की आदत रखते हैं और इस वजह से आप स्वयं को काफी हद तक व्यस्त रखते हैं। उच्च कोटि के विद्वान मीन राशि में पाए जाते हैं, इसलिए इस राशि को ज्ञान से परिपूर्ण राशि माना जाता है। यह महीना वास्तव में आपके लिए काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है क्योंकि इस महीने आपको अनेक प्रकार की सौगातें मिल सकती हैं। काम से लेकर आर्थिक स्थिति तक आपको बेहतर नतीजे मिलेंगे और इस प्रकार आपके लिए महीना काफी अनुकूल रहेगा।

वित्त: अब आइए नजर डालते हैं आपकी आर्थिक स्थिति पर। फरवरी 2020 के दौरान ग्रहों का गोचर इस बात का संकेत करता है कि आपकी आर्थिक स्थिति थोड़ी उतार-चढ़ाव से भरपूर रहने वाली है। जब तक मंगल नवम भाव में रहेगा, आपको अच्छा धन लाभ होता रहेगा, लेकिन जैसे ही मंगल दशम भाव में प्रवेश करेगा, आपको मिले जुले परिणाम मिलने शुरू हो जाएंगे और कभी अच्छा लाभ और कभी धन की कमी महसूस होगी। सूर्य देव का गोचर जब बारहवें भाव में होगा तो, शनि ग्यारहवें भाव में अपनी राशि में अकेले होंगे और ऐसे में वह आपको इतनी मजबूती देंगे तथा आपके जीवन में स्थायित्व भी देंगे। इससे आपकी आमदनी का कोई निश्चित जरिया बन सकता है, जो आपको लगातार धन प्रदान करता रहे और आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहे। शुक्र और बुध की बारहवें भाव में स्थिति आपके खर्चों को बढ़ाने का काम करेगी और जब सूर्य भी इसी भाव में आ जाएगा तो, आपके खर्चे काफी बढ़ सकते हैं। ऐसे में उन पर नियंत्रण पाना आप की सबसे बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि यदि आप अपने खर्चे पर अंकुश नहीं लगा पाए तो, आपकी आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो सकती है। ऐसे में एक बजट बनाकर अपने खर्चों को देखें और धन संबंधित समस्याओं से बच कर रहें, लेकिन एक बात तय है कि आपको धन की कमी नहीं होगी और आपके सभी काम बनते रहेंगे अर्थात आवश्यकतानुसार धन का आगमन होता रहेगा।

पारिवारिक: वैसे तो आपके पारिवारिक जीवन के लिहाज से यह महीना अच्छा ही रहेगा, लेकिन राहु की चतुर्थ भाव में उपस्थिति आपको बाहर के कामों में इतना व्यस्त रहेगी कि आपको घर पर समय बिताने का मौका नहीं मिलेगा और आप घर के सुख को काफी हद तक मिस करेंगे। चाहे काम के सिलसिले में जाना हो अथवा दोस्तों से मिलना, आप अधिक समय घर से बाहर बिताएंगे, जिसकी वजह से परिवार में आपकी उपस्थिति काफी कम रहेगी और आप अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों से भी कुछ समय के लिए दूर हो सकते हैं। इसकी शिकायत आपके परिवार वालों को आप से होगी। आपके पिता जी का स्वास्थ्य कुछ कमजोर रह सकता है, इसलिए उनका ध्यान रखें। मंगल का गोचर दशम भाव में जब होगा तो उसकी सप्तम दृष्टि चतुर्थ भाव पर पड़ेगी। इस दौरान घर परिवार में थोड़ा तनाव बढ़ सकता है। ऐसे में आपको ही मध्यस्थता करनी होगी और हर काम में आगे बढ़ कर अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए हर काम करना होगा, तभी आप अपने परिवार में सुख और शांति की कामना कर पाएंगे। बड़े भाई बहनों को सामान्य रूप से कुछ कष्ट हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त उनसे आपके संबंधों पर भी असर पड़ेगा। छोटे भाई बहन आपके खर्चों को बढ़ाएंगे, लेकिन कुछ समय बाद वही आपकी हर काम में सहायता भी करेंगे, जिससे आपको संबल मिलेगा। आपकी संतान की प्रगति आपको मानसिक सुकून देगी।