Personalized
Horoscope

Mithun Masik Rashifal in Hindi - Mithun Horoscope in Hindi - मिथुन मासिक राशिफल

Gemini Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य के मामले में आपको इस महीने काफी सतर्क रहना होगा, क्योंकि यह पूरा महीना स्वास्थ्य के मामले में आपके लिए अधिक अनुकूल दिखाई नहीं दे रहा है। जहां आपकी राशि में राशि स्वामी बुध विराजमान हैं, जो आप को मजबूती देने का प्रयास कर रहे हैं, तो वहीं पर राहु और सूर्य की उपस्थिति भी राशि स्वामी के साथ है और उस पर केतु का प्रभाव होने के साथ-साथ मंगल की दृष्टि भी है। इन सभी वजहों से तथा अष्टम भाव में शनि की उपस्थिति तथा अष्टमेश होने के नाते छठे भाव के स्वामी मंगल पर दृष्टि डालने के कारण ही आपको स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित होना पड़ सकता है, जिनमें विशेष तौर पर मानसिक तनाव, सिर दर्द, बुखार, शरीर में दर्द, ऐंठन, पेट में ख़राबी, पैरों में दर्द जैसी समस्याएं आपको परेशान कर सकती हैं। इसलिए अपने स्वास्थ्य के प्रति पूरी तरह से जागरूक रहें और समय-समय पर मेडिकल चेक अप कराते रहें। शनि का अष्टम भाव में होना किसी बड़ी बीमारी को जन्म देने का कारक हो सकता है। इसलिए जरा सी भी असावधानी आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती है।

कैरियर: दशम भाव में मंगल की उपस्थिति करियर के नज़रिए से काफी बेहतर है, क्योंकि यहां स्थित मंगल दिग्बली होने के साथ-साथ आपको कार्यस्थल में काफी मजबूती देगा। अष्टम भाव में बैठकर शनि भी इस पर प्रभाव डालेगा, जिसकी वजह से आपके कुछ गुप्त शत्रु भी आपको परेशान करने का प्रयास कर सकते हैं। ऊपर से आप मानसिक तनाव में होंगे, इसलिए जल्दी किसी के बहकावे में ना आएं, अन्यथा कार्यस्थल पर परेशानी उठानी पड़ सकती है और यदि आप इस पर ध्यान दे पाए, तो समय काफी बेहतर रहेगा। व्यापारियों को इस महीने मिले-जुले परिणाम प्राप्त होंगे। जो व्यापारी कमीशन का काम करते हैं, उन्हें इस महीने काफी बेहतर नतीजे मिल सकते हैं। इसके अलावा सरकारी क्षेत्र से संबंधित लोगों को भी महीने के उत्तरार्ध में अच्छा खासा लाभ मिल सकता है। आपके जीवन में किसी ऐसे व्यक्ति का पदार्पण हो सकता है, जो आपके बिज़नेस में आने वाले समय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: प्रेम संबंधित मामलों के लिए यह महीना सामान्य रहेगा। आप किसी बड़े उतार-चढ़ाव की उम्मीद इस महीने नहीं कर सकते। इसलिए जैसी स्थिति चल रही है, उसे वैसे ही चलने देना ही आपके लिए हितकर भी होगा। मंगल और शनि का प्रभाव आपके पंचम भाव पर अवश्य होगा, जिसकी वजह से आपके प्रेम जीवन में हल्की-फुल्की समस्याएं आ सकती हैं, लेकिन आप अपनी समझदारी के दम पर उन्हें सुलझा पाएंगे। हालांकि महीने का पूर्वार्ध थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है और इस दौरान आपको थोड़ा संभल कर चलना होगा, लेकिन महीने के उत्तरार्ध में स्थितियां आपके पक्ष में मुड़ने लगेंगी। आप अपने प्रियतम पर खर्च भी करेंगे और उन्हें खुशी देने वाले काम करेंगे, जिससे आपकी लव लाइफ पहले से थोड़ी सी बेहतर अवश्य बनेगी। इस दौरान आपका अपने मित्रों से मनमुटाव हो सकता है। बेहतर है कि इस समय को निकल जाने दें। यदि आप शादीशुदा हैं, तो आपके लिए समय थोड़ा सा गंभीर है। चुनौतियों को स्वीकार करें और दांपत्य जीवन में चली आ रही परेशानी को दूर करने के लिए हल निकालने का प्रयास करें। इसके लिए अपने जीवन साथी के साथ बैठें और उनसे बातचीत करें, ताकि आपके बीच जो भी समस्या आ रही है, उसे दूर करने के लिए व्यापक तरीके से प्रयास किया जा सके। देव गुरू बृहस्पति का योगदान आपकी इसमें मदद अवश्य करेगा। हालांकि राहु, सूर्य और केतु का प्रभाव अपनी ओर से आपको चुनौतियों में बनाए रखेगा। बहुत ही संभल कर रहें और वाणी से कोई भी ऐसा शब्द ना बोलें, जो आपके जीवनसाथी को कष्ट दे, अन्यथा आपका दांपत्य जीवन बिखर भी सकता है। इस समय को सही तरीके से निकल जाने देने में ही भलाई है और व्यर्थ के वाद विवाद से दूर रहना बेहतर रहेगा।

सलाह: मिथुन राशि के जातकों को इस महीने उपाय के तौर पर सर्वप्रथम अपनी राशि के अधिपति बुध देव को प्रसन्न करने के लिए बुध देव के बीज मंत्र ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधात नमः का जाप करना चाहिए और इसके साथ-साथ हरे रंग का प्रयोग अधिक करना चाहिए तथा घर के आस-पास हरे पेड़ पौधों को लगाना चाहिए। इसके अतिरिक्त बुधवार के दिन पक्षियों के जोड़े को आज़ाद करना चाहिए, जिससे उनके सभी समस्याएं दूर हो सकती हैं। इसके अतिरिक्त शरीर को स्वस्थ रखने के लिए उत्तम गुणवत्ता का पन्ना रत्न धारण करना चाहिए, जो कि शुक्ल पक्ष के बुधवार को कनिष्ठिका उंगली में धारण करना चाहिए

सामान्य: मिथुन राशि के जातक इस महीने काफी व्यस्त रहने वाले हैं। वे अपने मानसिक कार्यों में भी उलझे रहेंगे और पेशेवर जीवन में भी उन्हें व्यस्तता का सामना करना पड़ेगा। ऐसे में उन्हें थकान भी होगी, जिसका असर उनके स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है। इसलिए सर्वप्रथम अपने स्वास्थ्य को तरजीह दें और काम के बीच में आराम को भी समय दें। उसके अतिरिक्त सरकारी क्षेत्र के किसी भी व्यक्ति से इस महीने आप को नहीं उलझना चाहिए, नहीं तो आपको परेशानियाँ घेर सकती हैं। अपने आत्म बल को मजबूत बनाए रखने का प्रयास करें और माता पिता के स्वास्थ्य की देखभाल करें। कार्यक्षेत्र में दृढ़ इच्छाशक्ति के बलबूते आपको अच्छे परिणाम हासिल होंगे। इस दौरान आप किसी शोध कार्य में सफल हो सकते हैं और यदि कोई गूढ़ अध्ययन आप कर रहे हैं, तो उसमें भी आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे। सुख-सुविधाओं में समय बिताने का प्रयास करेंगे। हालांकि मानसिक तनाव हावी रह सकता है।

वित्त: यदि इस महीने के दौरान आपकी आर्थिक स्थिति पर नजर दौड़ाई जाए तो द्वादश भाव में उपस्थित शुक्र देव आपको सुख सुविधाओं पर खर्च करने वाला बनाएँगे और आप खुले हाथ से खर्च करेंगे, जिससे आर्थिक स्थिति पर असर पड़ेगा। हालांकि यही शुक्र देवता आपको इस काबिल भी बनाएँगे कि आप अपने खर्चों को वहन कर सकें। इसलिए आर्थिक स्थिति कुछ हद तक ठीक रहेगी। अष्टम भाव में शनि की स्थिति अधिक अनुकूल नहीं है, ऐसे में आपको कुछ हानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं महीने के पूर्वार्ध में सूर्य राहु के साथ उपस्थित होकर अधिक अनुकूलता नहीं दे रहा है। हालांकि महीने के उत्तरार्ध में जब 16 तारीख को सूर्य आपके द्वितीय भाव में जाएगा, तो निजी प्रयासों से कार्य में सफलता मिलेगी और आपको कुछ हद तक अच्छे लाभ की संभावना जाग जाएगी। इस प्रकार कहीं तो आप को विशेष तौर पर अपने खर्चों को ध्यान में रखना होगा। आर्थिक स्थिति इस महीने थोड़ी कमजोर रह सकती है।

पारिवारिक: पारिवारिक जीवन पर नजर दौड़ाई जाए तो उसमें शांति का अभाव रहने की संभावना अधिक है। हालांकि आप की ओर से प्रयास होगा कि आप घर के माहौल को थोड़ा हल्का रखें, लेकिन स्थितियां ऐसी होंगी कि ना चाहते हुए भी कुछ दिक्कतें आ ही जाएंगी। आपके पिताजी का स्वभाव इस दौरान थोड़ा सा गर्म हो सकता है, जिसकी वजह से भी कुछ समस्याएं उत्पन्न होंगी। महीने के उत्तरार्ध में सूर्य जब आप के द्वितीय भाव में प्रवेश करेगा, उस दौरान आपको कुछ राहत ज़रुर मिलेगी, लेकिन उसके बाद भी कुटुंब में किसी बात को लेकर तनातनी चलती रहेगी। इस प्रकार यह महीना थोड़ा सा अशांत रह सकता है, लेकिन आपकी राशि में बुध की उपस्थिति आपको मानसिक तौर पर काफी एक्टिव बनाएगी, जिसकी वजह से आप कोई ना कोई हल अवश्य ही निकाल लेंगे, जिससे पारिवारिक चुनौतियों से निजात पा सकें। छोटे भाई बहन आपके प्रति सहयोग रखेंगे। यह आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है।