Personalized
Horoscope

Simha Masik Rashifal in Hindi - Simha Horoscope in Hindi - सिंह मासिक राशिफल

Leo Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य को लेकर अक्टूबर के महीने में विशेष रूप से सावधानी बरतने की जरूरत होगी, क्योंकि इस मोर्चे पर कुछ चुनौतियां खड़ी हो सकती हैं। छठा भाव, जो रोग का भाव कहा जाता है, उसमें वृहस्पति और शनि की युति बन रही है। कई अन्य चीजों के लिए तो यह युति अच्छी हो सकती है, लेकिन स्वास्थ्य के लिहाज से यह परेशानी का कारक मानी जाती है। पेट से संबंधित समस्याएं, जैसेकि गैस, अपच, घुटने और हड्डी से जुड़ी परेशानियां आ सकती हैं। यदि आप पहले से ही इन रोगों से पीड़ित हैं, तो आपको विशेष रूप से अपने खान-पान का ध्यान रखने की जरूरत है। योग-व्यायाम आदि का पूरा ध्यान रखें। अपनी दिनचर्या को सही रखें। दूसरे भाव में मंगल और शुक्र का गोचर भी स्वास्थ्य के लिए परेशानी पैदा करने वाला हो सकता है। रक्त विकार और डायबिटीज के मरीजों को इस समय विशेष सावधानी रखने की जरूरत है।

कैरियर: काम-काज और करियर के दृष्टिकोण से यह महीना आपके लिए उपलब्धियों भरा रहने की उम्मीद है। आप कोई भी काम करते हों, समय आपके लिए हर तरह से अनुकूल है। राहु आपकी राशि से दशम भाव में बैठे हैं। वे आपके काम के रास्ते में आ रही हर छोटी-बड़ी रुकावट को दूर करने में आपके सहयोगी बनेंगे। आप जुगाड़ू बने रहेंगे। हर परेशानी के लिए आपके पास कोई न जुगाड़ जरूर होगा, जिससे आप अपना काम निकलवाने में सफल रहेंगे। कार्यक्षेत्र में आपकी स्थिति मजबूत होगी। 17 अक्टूबर को गोचरवश सूर्य आपकी राशि से तीसरे भाव में पहुंच जाएंगे। इससे आपके पुरुषार्थ और पराक्रम में वृद्धि होगी। बंधु-बांधवों, मित्रों आदि का सहयोग मिलेगा। लाभ के नए रास्ते खुलेंगे। उसके बाद मंगल भी 22 अक्टूबर को तीसरे भाव में आ जाएंगे। इससे आपके पराक्रम में और वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में तरक्की के योग बनेंगे। निजी प्रयासों से आपको उत्तम सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा लोगों की प्रतिष्ठा बनेगी। उनकी छवि हर काम को कर दिखाने वाले टास्कमास्टर की बनेगी। प्रमोशन-बोनस आदि की बात भी हो सकती है। व्पायार करने वालों के लिए भी समय बहुत अच्छा है। महीने का पूर्वार्ध आय के लिहाज से ठीकठाक रहेगा। आय के स्रोत बने रहेंगे। आमदनी होने से मन प्रसन्न रहेगा। लेकिन उत्तरार्ध बहुत अच्छी सफलता के संयोग लेकर आएगा। सूर्य के तीसरे भाव में आने से भाग्य का साथ मिलेगा। शासन-सत्ता का सहयोग मिलेगा। फिर मंगल के तीसरे भाव में आने से आप अपने परिश्रम से आय के नए अवसर निर्मित करने में सफल रहेंगे। निवेश कर सकते हैं। आप प्रतिद्वंद्वियों को पछाड़कर आगे बढ़ेंगे।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: जिन लोगों के प्रेम प्रसंग चल रहे हैं, उनके लिए महीने का पूर्वार्ध तो आनंद से भरपूर रहेगा। पंचम भाव के स्वामी वृहस्पति छठे भाव में स्थित हैं। शनि के साथ उनकी युति बन रही है। शनि स्वयं छठे और सांतवें भाव के स्वामी हैं। इससे प्रेम संबंधों में भरोसा बढ़ेगा। एक दूसरे के प्रति समर्पण बढ़ेगा। बात विवाह की भी हो सकती है। जो लोग प्रेम संबंधों को विवाह में बदलने की इच्छा रखते हैं, उन्हें इस दिशा में प्रयास करना चाहिए, सफलता मिलेगी। आपसी भरोसा देखकर आपके मित्रगण भी आपके प्रेम के प्रति प्रशंसा और सम्मान का भाव रखेंगे। 22 अक्टूबर को मंगल का गोचर तीसरे भाव में होगा। मंगल अपनी चतुर्थ दृष्टि से देवगुरु वृहस्पति और शनि को देख रहे होंगे। इससे रिश्ते में कुछ चुनौतियां आ सकती हैं। आपके प्रियतम के साथ आपका मतभेद कराने के प्रयास हो सकते हैं। आपको बहुत समझदारी से काम लेने की जरूरत है। कही-सुनी बातों पर एकदम यकीन नहीं करना है। हालांकि आप दोनों मिलकर इन सब गलतफहमियों को दूर करने में सफल होंगे। अब बात शादीशुदा लोगों के जीवन की। अक्टूबर का महीना विवाहित जातकों के लिए कुल मिलाकर अच्छा रहने वाला है। आपसी संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। जीवनसाथी के प्रति समर्पण बढेगा। संबंध मधुर होंगे। लेकिन जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर आपको थोड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। जीवनसाथी की सेहत में कुछ परेशानी आ सकती है, जिसकी वजह से आपको कुछ खर्च करना पड़ सकता है। पर चिंता जैसी कोई बात नहीं है। इससे आप दोनों के बीच सामंजस्य और बढ़ेगा ही।

सलाह: प्रतिदिन सूर्य देव को तांबे के पात्र से जल में कुमकुम मिलाकर अर्घ्य दें। आपको आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। बृहस्पतिवार के दिन केले के वृक्ष की पूजा करनी चाहिए। मंगलवार के दिन श्री हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। शनिवार के दिन छाया दान करना चाहिए।

सामान्य: सिंह राशि के जातकों के लिए अक्टूबर का महीना औसत से बेहतर रहने वाला है। काम-धंधे में भरपूर लाभ होगा। आमदनी होगी। नौकरी में प्रमोशन भी हो सकता है। आप अपने दम पर हर काम करने में सफल होंगे। आत्मविश्वास से भरे रहेंगे और लोगों के लिए मददगार भी रहेंगे। विद्यार्थियों के लिए भी यह महीना प्रसन्नता के अवसर लेकर आया है। पढ़ाई-लिखाई में मन लगेगा। एकाग्रता बनी रहेगी तो सफलता के मार्ग भी खुलेंगे। कोई खुशखबरी मिल सकती है। पारिवारिक सुख के नजरिए से देखें तो मिला-जुला माहौल रहेगा। माताजी के स्वास्थ्य को लेकर कुछ चिंता हो सकती है। भाई-बहनों का सहयोग मिलेगा। प्रेम संबंधों के लिए महीने का पूर्वार्ध बहुत आनंददायक है, पर उत्तरार्ध में आपको संबंधों में मिठास बनाए रखने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। शादीशुदा लोगों के लिए भी समय अच्छा है। जीवनसाथी का भरपूर सहयोग मिलेगा। जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर कुछ चिंता हो सकती है। इस महीने तो आपको अपने स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहने की जरूरत है। धनामगन तो होगा, लेकिन बीमारी आदि पर कुछ खर्च भी करना पड़ सकता है। कुल मिलाकर अक्टूबर का महीना आपके लिए ठीकठाक रहने वाला है।

वित्त: आर्थिक दृष्टिकोण से अक्टूबर का समय मिश्रित फल देने वाला रहेगा। वैसे तो समय ठीकठाक है, लेकिन 2 अक्टूबर को बुध वक्री गति से गोचर करते हुए आपके धन भाव यानी दूसरे भाव में पहुंचेंगे। इससे शुरुआत में थोड़ी उलझन हो सकती है। निर्णय करने में आपको परेशानी हो सकती है, जिससे कुछ विलंब हो सकता है। कुछ आंशिक चुनौतियां भी सामने आएंगी। लेकिन आपकी आय के स्रोत बने रहेंगे। धनागमन भी होगा। व्यापार के संबंध में निर्णय लेने की देरी से कुछ बाधाएं आ सकती हैं, लेकिन आप अपने अनुभवों, अपने व्यापार कौशल का प्रयोग करके इन बाधाओं को पार करने में सफल रहेंगे।

पारिवारिक: पारिवारिक सुख के लिहाज से यह महीने मिश्रित फल देने वाला रहेगा। आपकी राशि से चतुर्थ भाव में केतु विराजमान हैं। यह घर-परिवार के सुख में कमी करने वाला साबित हो सकता है। परिवार में कुछ चुनौतियां आ सकती हैं। खासकर माता के स्वास्थ्य को लेकर कुछ चिंता हो सकती है। माता जी के स्वास्थ्य को लेकर विशेष सतर्क रहें। यदि उन्हें पहले से कोई परेशानी है, तो और अधिक संभल कर रहने की जरूरत है। भाई-बहनों से अच्छा सहयोग मिलेगा। परिवार के सभी लोग साथ मिलकर चुनौतियों का सामना करेंगे। आपसी प्रेमभाव बना रहेगा। महीने के उत्तरार्ध में माता जी को लेकर ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। माता की सेवा का अवसर न गंवाएं।