Personalized
Horoscope

Mesh Masik Rashifal in Hindi - Mesh Horoscope in Hindi - मेष मासिक राशिफल

Aries Rashifal

स्वास्थ्य: स्वास्थ्य की दृष्टि से अक्टूबर का महीना कुछ ढीला रहने वाला है। छोटी-मोटी परेशानियां बनी रहेंगी। सूर्य और मंगल दोनों की छठे भाव में युति हो रही है। इससे कुछ शारीरिक समस्याएं आ सकती है। बुखार, सिरदर्द, रक्तचाप, फोड़े-फुंसी, रक्तविकार आदि से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। बगर ब्लडप्रेशर की परेशानी है तो आपको विशेष सचेत रहने की जरूरत है। योग-व्यायाम आदि का ध्यान रखें। अकारण मानसिक तनाव हो सकता है। 17 अक्टूबर को सूर्य के राशि परिवर्तन करने से स्वास्थ्य के क्षेत्र में आपको कुछ लाभ होगा। कुछ समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। स्वास्थ्य में सुधार होगा।

कैरियर: कामकाज और करियर के दृष्टिकोण से अक्टूबर का महीना आपके लिए खुशियां लेकर आया है। तरक्की का समय है। आप चाहे व्यापार करते हों, स्वरोजगार में हों या फिर नौकरीपेशा, हर क्षेत्र के लिए यह समय अच्छा रहने की उम्मीद की जा सकती है। आपकी मेहनत और आपका अनुभव दोनों मिलकर आपके लिए सफलता के नए द्वार खोलेंगे। आप काम-धंधे में दूरदर्शिता का परिचय देंगे। इस कारण प्रदर्शन में सुधार होगा। लाभ के अवसर बनेंगे और आपकी प्रशंसा भी होगी। नौकरी में यदि आपने पदोन्नति की उम्मीद लगा रखी थी, तो उसके योग भी हैं। व्यापारियों के लिए यह महीना बहुत अनुकूल रहेगा। बिजनेस को विस्तार देने में सफल हो सकते हैं। साझेदारी आदि हो सकती है। यदि आप कोई ऐसा काम करते हैं, जिसमें सरकार के सहयोग की बड़ी जरूरत रहती है या फिर सरकारी ठेके आदि लेते हैं, तो अक्टूबर का महीना इसके लिए फायदेमंद रहने वाला है। बस आपको कानूनी मामलों में जरा सोच-समझकर फैसला लेने की जरूरत होगी। कोई भी काम करें, पक्का काम करें। साझेदारी आदि में बिल्कुल जाएं, लेन-देन भी करें, पर जो भी काम करें, उसमें कागजी कार्रवाई में जरा भी लापरवाही न बरतें। अन्यथा बाद में बहुत पछताना पड़ सकता है।

प्रेम / विवाह / व्यक्तिगत संबंध: जो लोग प्रेम संबंधों में हैं, उनके लिए महीना उतार-चढ़ाव भरा रहने वाला है। आपको बहुत धैर्य और समझदारी दिखाने की जरूरत होगी। पंचम भाव के स्वामी सूर्य गोचरवश छठे भाव में होंगे, जहां मंगल पहले से ही विराजमान हैं। सूर्य-मंगल दोनों की युति हो जाने से आपके स्वभाव में अक्खड़पन और आक्रामकता आ सकती है। आप साथी की कोई बात सुनने को तैयार नहीं होंगे, उसपर हावी होने का प्रयास करेंगे। यह आपके संबंधों को कड़वा बना सकते हैं। दूरियां आ सकती हैं। रिश्ते में लड़ाई-झगड़ा भी हो सकता है। संबंध विच्छेद तक की स्थिति खड़ी हो सकती है। अब आपको सोच-समझकर बर्ताव करना है। यदि आपके लिए प्रियतम के साथ आपका रिश्ता मायने रखता है, तो यही परामर्श है कि जितना संभव हो, मौन रहें। किसी की कही-सुनी बात पर जरा भी भरोसा न करें। आपने साथी पर विश्वास करें। कोई भी बात मन में आए तो बेहतर है कि सीधे अपने साथी से बात करें, न कि किसी अन्य द्वारा कही बात को सत्य मान लें। महीने के पूर्वार्ध में इस बात को लेकर विशेष सतर्क रहना है। 17 अक्टूबर को सूर्य राशि परिवर्तन करके तुला राशि में पहुंच जाएंगे। इससे पुराना मनमुटाव खत्म होगा। रिश्तों में फिर से मिठास आएगी। अब बात शादीशुदा लोगों की। अक्टूबर का महीना विवाहित जातकों के लिए उत्तम रहने वाला है। दांपत्य जीवन में मधुरता रहेगी। आपसी सामंजस्य बना रहेगा। रिश्ता मजबूत और मधुर बनेगा। परस्पर आकर्षण रहेगा। शुक्र के 2 तारीख को अष्टम भाव में जाने से अंतरंग संबंधों में बढ़ोतरी होगी। ससुराल पक्ष के लोगों के साथ अच्छा तालमेल बना रहेगा। महीने के आखिर में जीवनसाथी के साथ कहीं लंबी यात्रा पर जाने की योजना बन सकती है।

सलाह: मंगलवार के दिन अपनी अनामिका उंगली में तांबे की अंगूठी में मूंगा रत्न धारण करें। आपको हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए और हनुमान जी के मंदिर जाकर उन्हें मंगलवार को चोला चढ़ाना चाहिए। रविवार के दिन सूर्य देव को अर्घ्य अवश्य दें। इससे आपको लाभ होगा। अपने मस्तक पर प्रतिदिन केसर का तिलक लगाएं। अपने पिताजी की सेवा करें और प्रतिदिन प्रातः काल उठकर उनके चरण स्पर्श करें।

सामान्य: अक्टूबर का महीना आपके लिए मिला-जुला रहने वाला है। काम-धंधे के लिहाज से यह महीना आनंदायक और उन्नतिदायक रहने वाला है, तो शिक्षा-दीक्षा के नजरिए से कुछ मिला-जुला प्रभाव रहेगा। काम-धंधे में रास्ते खुलते जाएंगे बस आपको अपनी तरफ से लेन-देन की सावधानी रखनी होगी। शिक्षा के नजरिए से देखें, तो सफलता के भरपूर अवसर बनते दिख रहे हैं, बस मन को काबू में रखना होगा। बाधाएं आएंगी लेकिन उनको अपने ऊपर हावी नहीं होने देना है। उसके बाद तो विद्यार्थियों के लिए मौके ही मौके दिखते हैं। घर-परिवार में मान-सम्मान बढ़ेगा। भाई-बहनों, कुटुंबजनों के साथ निकटता रहेगी। एक दूसरे के काम आएंगे। प्रेम संबंधों के लिए महीने का पूर्वार्ध चुनौतीपूर्ण है, इसलिए बहुत समझदारी से काम लेने की जरूरत होगी। दिमाग में शांति और वाणी में मिठास- इन दोनों पर टिकेगा आपका प्रेम संबंध। शादीशुदा लोगों के लिए समय आनंददायक है। संबंधों में प्रगाढ़ता दिखेगी। मन प्रसन्न रहेगा। धन-धान्य के लिहाज से समय मिले-जुले प्रभाव वाला रहेगा। आमदनी तो होगी, लेकिन दिखावे की प्रवृत्ति फिजूलखर्ची कराके आपका नुकसान करा सकती है। महीने के पूर्वाध में स्वास्थ्य में थोड़ा उतार-चढ़ाव रह सकता है, पर उत्तरार्ध में सेहत में सुधार आएगा।

वित्त: आर्थिक दृष्टिकोण से समय कुछ उतार-चढ़ाव से भरा रह सकता है। महीने की शुरुआत सामान्य तरीके से होगी। कामकाज में मन लगेगा और औसत तरीके से जारी रहेगा। आय के स्रोत खुले रहेंगे, पर आपने बहुत अधिक लाभ की आस लगा रखी है। आशा के अनुसार लाभ नहीं मिलने से मन कुछ खिन्न रह सकता है। शासन-प्रशासन के सहयोग से कार्यों में गति आएगी, लाभ भी होगा। सरकारी क्षेत्र से संबंधित कार्य करने वालों को लाभ के अच्छे योग हैं। महीने का उत्तरार्ध अपेक्षाकृत अनुकूल रहेगा। व्यापार-कारोबार में लाभ की वृद्धि होगी, पर बेवजह के खर्चे भी हो सकते हैं। आपमें दिखावे की प्रवृत्ति हावी हो सकती है। अपना प्रभाव-प्रभुत्व, वैभव दिखाने के लिए आप फिजूलखर्ची को उतारू हो सकते हैं। इससे बचना जरूरी है। कहीं ऐसी जगह पैसा लगा सकते हैं, जहां से आपको कुछ खास हाथ नहीं लगने वाला। आमदनी बढ़ने के साथ-साथ आपमें विलासिता की प्रवृत्ति भी देखी जा सकती है। इससे धन हानि की आशंका है। सतर्क रहें। जीवनसाथी और परिजनों के साथ परामर्श के बाद ही कहीं कोई निवेश आदि करने पर विचार करें।

पारिवारिक: पारिवारिक जीवन के लिहाज से यह महीना आपके लिए आनंददायक रहेगा। घर परिवार में सुख-शांति रहेगी। परिजनों के साथ अच्छा समय व्यतीत करने का अवसर मिलेगा। वृहस्पति और शनि का दृष्टि संबंध आपके घरेलू सुख के चतुर्थ भाव पर है। इससे सामाजिक सरोकार के साथ-साथ आप पारिवारिक दायित्वों का भी पूरा निर्वहन करेंगे। इससे घर-परिवार में आपकी अहमियत बढ़ेगी। रिश्तेदारों-मित्रों के बीच सम्मान मिलेगा। आप सबके साथ सामंजस्य बनाने में सफल रहेंगे और परिवार को मिला-जुलाकर रखने के लिए आपकी प्रशंसा होगी। बस आपको एक बात का ध्यान रखना है कि प्रतिष्ठा अर्जित करने से भी ज्यादा महत्वपूर्ण है, उसे बनाए रखना। प्रतिष्ठा कई बार किस्मत का साथ देने से भी आ जाती है, लेकिन उसे बनाए रखना आपके प्रयासों पर निर्भर करता है। तो धन के पीछे भागने की बजाय परिवार को संभालना ही आपकी प्राथमिकता बनी रहनी चाहिए। यह कभी-कभार का काम नहीं है, हमेशा का दायित्व है। ध्यान रखें, सुख अपनों से मिलता है, सपनों से नहीं। भाई-बहनों के साथ यदि व्यापार करते हैं, तो उनके कार्य से आपको लाभ होगा। छोटे भाई-बहनों की जरूरत में मदद करने में जरा भी न आनाकानी करें। पिताजी का सहयोग मिलेगा। धन की प्राप्ति हो सकती है। महीने के पूर्वार्ध में संतान को स्वास्थ्य की कुछ समस्याएं हो सकती हैं, पर समस्याएं बहुत बड़ी नहीं होंगी। उत्तरार्ध पूरी तरह अनुकूल रहने की संभावना है।